Phone: +91-9811-241-772

Poems

 निराशा में छुपी होती है अनगिनत आशाएं

 

निराशा में छुपी होती है अनगिनत आशाएं

शब्द में क्या रखा है

जब अर्थ में छुपी है गहरी दुआएँ,

गौर फ़ार्मा कर देखलो

निरा का अर्थ है अनगिनत

आशा का अर्थ उम्मीद

अगर इन दोनो का साथ हो

तो जीवन जाओगे जीत.....