Phone: +91-9811-241-772

Poems

 दूसरे से खुद की तुलना करखुद को ही कमज़ोर बताते है

 

दूसरे से खुद की तुलना करखुद को ही कमज़ोर बताते है

जैसे हैं

जाने वैसे ही खुश क्यों नही रह पाते हैं…………………