Phone: +91-9811-241-772

Poems

 तुमने ये अचानक क्या कह दिया

 

तुमने ये अचानक क्या कह दिया

सुन कर मैं चकित रह गया,

कोई जवाब नही था मेरे पास

जाने वो घड़ी मैं कैसे सेह गया,

वो शब्द कि पियार नही करती मैं तुमसे

मानो मेरा जनाज़ा ले गया,

याद करोगे एक दिन

.यकीनन याद करोगे एक दिन,

एक तूफान आया था

जो चुप चाप बह गया,

फिर जब थम जाएगा ये समा

ता उम्र याद करोगे

की एक ऐसा आशिक था

जो महोब्बत की उँचाई को छू कर

खुशी खुशी मेरे लिए डेह गया.......