Phone: +91-9811-241-772

Poems

 मैं नही कह पाई पर तुम तो कह सकते थे

 

मैं नही कह पाई
पर तुम तो कह सकते थे,
जो बात दिल मे थी
उसे ज़ुबा पर रख सकते थे,
कमी तो मुझमे थी इज़हार ना कर पाने की
बस खबर ही भेज दी होती आने की,
दौड़ कर ना आई होती तो बात थी
पर तुमने तो ज़रूरत ही ना समझी मुझे बुलाने की?????????????