Phone: +91-9811-241-772

Poems

 दूरियाँ इतनी बढ़ा दी तुमने कि अब पास आने से भी

 

दूरियाँ इतनी बढ़ा दी तुमने

कि अब पास आने से भी

डर लगने लगा है

तुम्हारी ओर बढ़ता हर एक कदम

भँवर् में खड़ा है.........