Phone: +91-9811-241-772

Poems

 कामीने है साले जब भी खाली होते हैं

 

कामीने है साले

जब भी खाली होते हैं

तभी मिलने आते हैं,

 पर सच तो ये है .......

जब आकर गले लगाते हैं

अजब सा हक़ जता

गम से भरा दिल पिघला जाते हैं

 दोस्त कहते हैं खुद को

पर खुदा से लगते हैं मुझको