Phone: +91-9811-241-772

Poems

 हर साँस मे मन के शब्दों को उतार मैं खुद को पूर्ण पाता हूँ

 

हर साँस मे मन के शब्दों को उतार मैं खुद को पूर्ण पाता हूँ

वरना कुछ भी करलूँ

दुनिया की भीड़ में खुद को अधूरा ही पाता हूँ ....