Phone: +91-9811-241-772

Poems

 उड़ने वाली मैं आँधी नही थम जाए जो मैं वो लम्हा नही

 

उड़ने वाली मैं आँधी नही

थम जाए जो मैं वो लम्हा नही

निरंतर चलती रहती हूँ क्योकि मैं फ़ितरत की मारी हूँ

मैं आज के दौर की नारी हूँ

मैं भुजे दीपक की कोसी भाप हूँ

मैं अपने ही नृत्य की थाप हूँ

मुझे अपने बिटिया होने पर गर्व है

बेटी को जन्म दे ......

मुझे मिला स्वर्ग है