Phone: +91-9811-241-772

Poems

 सवाल उठाते लोग जो पहले नही सोचा वो अब क्यों

 

सवाल उठाते लोग

जो पहले नही सोचा वो अब क्यों

जवाब देता मुसाफिर

तब मे गुमराह था

मेरे आज में मैं हूँ