Phone: +91-9811-241-772

Poems

 भीतर छुपे आनंद की संसार में खोज है

 

भीतर छुपे आनंद की

संसार में खोज है

यक़ीनन .....

ज़िंदगी इसलिए भोझ है ...

470.

घमंड तो इंसान को सांसो को भी नही करना चाहिए

पैसा तो चीज़ ही क्या है ..............