Phone: +91-9811-241-772

Poems

 कंधे तो बहुत मिले राहों में हमने सोचा

 

कंधे तो बहुत मिले राहों में

हमने सोचा

वक़्त आने पर सिर रख दो आँसू बहा देंगे

हमे ना पता था

वे हमारा जनाज़ा उठाने को बैठे थे ...........