Phone: +91-9811-241-772

Poems

 कहावत थी पुरानी आज मान गए

 

कहावत थी पुरानी

आज मान गए

जीत आए किले

जब ठानी

पर अपनो के आगे

हार गए……