Phone: +91-9811-241-772

Poems

 देश विदेश घूम आया सारे वेश पहन आया

 

देश विदेश घूम आया

सारे वेश पहन आया,

पर मन की आवाज़

मात्र भाषा से ही निकलती है

जो हमे सीखनी नही पड़ती

वो माँ की कोक से ..... विरासत में मिलती है

हिन्दी दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएँ