Phone: +91-9811-241-772

Poems

 ज़िंदगी के पहलुओं से वो कब तक वाकिफ़ करेगा

 

ज़िंदगी के पहलुओं से

वो कब तक वाकिफ़ करेगा

मैं जितना तैर कर पार करता हूँ

ये उतना समुंदर कब तक भरेगा ............