Phone: +91-9811-241-772

Poems

 जब तक खामोश बैठा हूँ

 

जब तक खामोश बैठा हूँ

किसी को कुछ नहीं कहता हूँ

आज़मां लो .............

कभी उठता हूँ

तो कभी सिर झुका लेता हूँ

कभी जीत का जशन

तो कभी हार को गले लगा लेता हूँ

 ज़िन्दगी हर हाल में खूबसूरत ही है

इस बात को गले लगा

हर वक़्त बिता लेता हूँ ............