Phone: +91-9811-241-772

Poems

 सफ़र में अपना कोई मिल जाना चाहिए

 

सफ़र में अपना कोई मिल जाना चाहिए

मन की गुफ्तगू को गुनगुनाने का बहाना चाहिए

कदम ना रुके वो दीवाना चाहिए ,

मंज़िलों में महफ़िल का ताना बाना चाहिए,

हर लम्हें को खूबसूरत तस्वीर बना

दिल में बसाना आना चाहिए........

हम एकेले हों

या मेफ़िलों के मेले हों

हर हाल में मुस्कुराना चाहिए...........