Phone: +91-9811-241-772

Poems

 ज़िंदगी की ख़ासियत है

 

ज़िंदगी की ख़ासियत है 
जब तक माँ बाबा का साथ है 
चाहे जीवन में कोई भी परिस्थिति आए
दो शक्स हैं धरती पर जिनका सदेव सिर पर हाथ है

सुख था

सुकून नही ......

चाह थी

जुनून नही .......

शायद इसलिए मंज़िल तक पहुँच नही पा रहा था

शायद इसलिए ,लिए ही बार - बार कोशिश करने से घबरा रहा था ,

आज जब सुकून और जुनून का अर्थ समझ आया

तो ठोकर खाए हर वक़्त में अनुभव ही नज़र आया

मज़िल तक पहुँच जाउँगा

खुद में इस विश्वास को पाया ,

ज़िंदगी में मज़िल ........

सुख और चाह से नही

बल्कि सुकून और जुनून से मिलती है

ये भी समझ आया ........