Phone: +91-9811-241-772

Poems

 ताक़त को मेरी तुम क्यों

 

ताक़त को मेरी तुम क्यों

आज़माना चाहते हो,

कह तो रहा हूँ मैं कमज़ोर नही

बस तू मेरी कमज़ोरी हो...........