Phone: +91-9811-241-772

Poems

 सपने खुवाबों में तुम रखते हो हमसे वास्ता

 

सपने

खुवाबों में तुम रखते हो हमसे वास्ता

हर उम्मीद का गुज़रता है तुमसे रास्ता ,

खो जाते हो तुम भोर होने पर