Phone: +91-9811-241-772

Poems

 फूलों के देख मुस्कुराते हो

 

फूलों के देख मुस्कुराते हो

मौसम के रंगों के साथ खिल जाते हो,

 हरियाली की उपज से 

भोजन का लुफ्त उठाते हो,

प्रकृति की खूबसूरती को निहारने

भरता हमारा खुशी का गागर है.......