Phone: +91-9811-241-772

Poems

 काँटा माली से कहता है

 

काँटा माली से कहता है

आप जिस गुलाब की हर वक़्त तारीफ करते हो.........

माना हम वो गुलाब नही ............

मगर हम इतने भी खराब नही

की हमारा ज़िक्र ही ना हो

क्योंकि ये गुलाब जब जब मुस्कुराता है

ये काँटा उसकी उम्र बढ़ाता है.............